लघु उद्योग के लिए लोन कैसे अप्लाई करें 2021 Step By Step

नमस्कार दोस्तों 

आज हम बात करने वाले हैं लघु उद्योग के लिए लोन कैसे अप्लाई करें। एवं लघु उद्योग क्या है फायदे नुकसान बहुत तरह की बातें आज हम जानेंगे इस पोस्ट के माध्यम से तो बने रहे अंत तक हमारे साथ इस पोस्ट  पर और जाने पूरी जानकारी।

तो हम सब जानते हैं कि लघु उद्योग के लिए लोन कैसे अप्लाई करें स्टेप बाय स्टेप पूरी प्रोसेस जानेंगे विस्तारपूर्वक।

मित्रों अगर आप भी की लघु उद्योग के लिए लोन लेने के बारे में जानकारी चाहते हैं या विचार कर रहे हैं तो आपके लिए यहां पर सारी जानकारी प्राप्त हो जाएगी और आप आसानी से लघु उद्योग के लिए लोन अप्लाई कर सकते हैं।

 तो चलिए जानते हैं की लघु उद्योग के लिए लोन हम कैसे ले सकते हैं एवं बहुत तरह की जानकारी आज हम जानेंगे तू चलिए जानते हैं सारी जानकारी विस्तार पूर्वक।

लघु उद्योग क्या होता है 

तो मित्रों हम जानते हैं की लघु उद्योग क्या होता है बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जो लघु उद्योग के लिए लोन अप्लाई करना चाहते हैं पर उन्हें यह नहीं पता कि लघु उद्योग क्या होता है। चलिए जानते हैं की लघु उद्योग क्या है।

मित्रों ऐसा उद्योग जो कि हम छोटे पैमाने पर किसी भी उद्योग की इकाई को खड़ा करना लघु उद्योग कहलाता है या तो फिर हम ऐसे समझते हैं छोटे पैमानों की औद्योगिक इकाइयां वे इकाइयां है जो मध्यम स्तर के विनियोग की सहायता से उत्पादन प्रारंभ करती हैं। इन इकाइयों में श्रम शक्ति यानी कि मेहनत या लोगों की आवश्यकता कम पड़ती है और सापेक्षिक रूप से वस्तु एवं सेवाओं का उत्पादन किया जाता है वैसे उद्योगों को लघु उद्योग कहते हैं।

लघु उद्योग में कौन कौन से उद्योग आते हैं

मित्रों हम जानेंगे लघु उद्योग में कौन-कौन से उद्योग आते हैं एवं और बहुत सारी जानकारी प्राप्त करेंगे आज इस पोस्ट पर तो चलिए जानते हैं लघु उद्योग में कौन कौन से उद्योग आते हैं।

तो हम जानते हैं एक-एक करके कि लघु उद्योग में कौन-कौन से उद्योग आते हैं तो चलिए जानते हैं सभी के बारे में एक-एक करके विस्तार पूर्वक।

1. हर्बल प्रोडक्ट एवं तेल साबुन बनाना:-

मित्रों अगर आप किसी भी हर्बल प्रोडक्ट या फिर तेल साबुन जैसी वस्तुएं आप बना रहे हैं तो वह लघु। उद्योग में आता है।

2. हाथ से बने चॉकलेट बनाना:-

मित्रों अगर आप अपने हाथों से चॉकलेट बनाते हैं तो वह भी लघु उद्योग में आता है।

3. कुकी बिस्कुट बेकरी संबंधित चीजें बनाना:-

मित्रों कोई भी व्यक्ति अगर बेकरी संबंधी चीजें जैसे कि कुकी बिस्कुट इत्यादि चीजें बनाते हैं तो वह लघु उद्योग में आता है मैं बता दूं की parle कंपनी की भी शुरुआत ऐसी ही हुई थी।

4. दूध दही घी आदि वस्तुओं को डिब्बे में बंद कर बेचना:-

दूध दही घी आदि बचके अगर आप डिब्बे में बंद कर बेच रहे हैं यानी डेरी फॉर्म के माध्यम से आप कोई भी छोटा-मोटा उद्योग चला रहे हैं तो वह भी लघु उद्योग के अंदर आता है।

5. मोमबत्ती एवं अगरबत्ती बनाना:-

दोस्तों आप अगर अपने घर के आस-पास देखें तो आजकल एक नया उद्योग चल रहा है जो की मोमबत्ती एवं अगरबत्ती बनाने के लिए महिलाओं को प्रेरित किया जाता है या उद्योग भी लघु उद्योग के अंदर आता है।

और बहुत तरह की लघु उद्योग में उद्योग आते हैं और आगे जानकारी हम आपको दे रहे हैं आप बस बनी रहे हमारे साथ अंत  तक।

लघु उद्योग के लिए लोन कैसे अप्लाई करें | लघु उद्योग के लिए लोन कैसे ले 2021?

तो  मित्रों हम जानते हैं आगे की लघु उद्योग के लिए लोन कैसे अप्लाई करें।

तो  जान लेते हैं विस्तार पूर्वक सारी जानकारी इसी पोस्ट पर तो चलिए जानते हैं।

1. सबसे पहले आपको अपना बैंक अकाउंट होना चाहिए।

2. आप किस तरह का व्यापार करना चाहते हैं एवं कौन सा उद्योग खोलना चाह रहे हैं इसकी जानकारी आपको लिखनी होगी।

3.यहां आपको अपनी यह डिटेल भरनी है:

.अपना नाम

.ईमेल ID

.मोबाइल नंबर

4.इसके बाद आपको मोबाइल नंबर के पास बने हरे बटन Get OTP पर क्लिक करना है।

5.ऐसा करने पर आपके मोबाइल पर OTP आएगा।

6.इसे नीचे दिए OTP में भरें और नीचे दिए चेक बॉक्स पर क्लिक कर के ‘Proceed’ पर क्लिक कर दें।

7.आपका अकाउंट बन जाएगा।

8.इसके बाद आपको अगले पेज पर “Need Fund For Existing/New Business” पर क्लिक करना है।

9.इस पर क्लिक करके अगले पेज पर दिया फॉर्म भरना है।

10.फॉर्म भरने के बाद आपको आपके फोन पर अप्रूवल का संदेश मिल जाएगा।

11.ऋण के अप्रूव होने के बाद आपको अपना बैंक चुनना है। वाह बैंक जिसमें आपका अकाउंट हो।

12.बैंक चुनने के बाद आपको बैंक द्वारा बताई गयी प्रक्रिया को पूरा करना है।

13.बैंक डिटेल भी इसमें डालें ताकि लोन आपके उस बैंक अकाउंट में आ सके।

14.अगर आपका ऋण अप्रूव हो गया है तो आपको जीएसटी जैसी जानकारी भी डालनी होगी। 

15.इस ऋण के लिए आपको इन दस्तावेजों की भी जरूरत होगी।

16.बैंक की पिछले छह महीने की पैसो के लेनदेन की जानकारी

17.टैक्स से सम्बन्धित सभी दस्तावेज

.KYC फॉर्म 

.बैंक जानकारी

18.आपके पास अपने पहचान पत्र जैसे वोटर आई डी कार्ड, आधार कार्ड, पैन कार्ड या पासपोर्ट आदि होना भी आवश्यक है

19.SC/ST/OBC/General या जिस भी जाती से संबंध रखते हैं उसका प्रमाण भी अपने पास रखें।

इसके बाद आपका लोन अप्रूव हो जाएगा एवं आप लोन लेने के लिए तैयार है।

लघु उद्योग के लिए लोन लेने का फायदा

लघु उद्योग के लिए लोन लेने की बहुत ही फायदे हैं जो कि हम एक-एक करके जानते हैं तो चलिए जानते हैं एक-एक करके विस्तार पूर्वक।

1. अगर हम लघु उद्योग के लिए लोन लेते हैं तो आपको कई योजनाओं के तहत लघु उद्योग के लिए 25 लाख से 5 करोड़ तक का लोन मिल सकता है।

2.लघु उद्योग की सबसे खास बात है कि इसके लिए आपको बहुत कम निवेश करना पड़ता है। अपनी योग्यता के अनुसार आप धन लगाकर अपने व्यवसाय का शुरू कर सकते हैं। सरकार लघु उद्योग लगाने पर सब्सिडी भी देती है। इससे कई लोगों को रोज़गार मिलता है। यही नहीं, लघु उद्योगों के कारण कई चीज़ें कम कीमत पर मिल जाती हैं।

3. आपको लघु उद्योग पर लोन लेने पर 4 से 10% तक का ब्याज दर लग सकता है।

यह कुछ फ़ायदे है और भी बहुत से फायदे जोआपको लघु उद्योग पर लोन लेने पर मिलेंगे।

लघु उद्योग के लिए लोन लेने का नुकसान

मित्रों जहां पर इतना फायदा हो वहां पर कुछ नुकसान तो होना तो स्वाभाविक है तो आइए कुछ छोटे-मोटे नुकसान है उनके बारे में भी जान लेते हैं।

1. पहली बात तो यह कि यह लोन आपको 25 लाख से शुरू होती है जो कि एक गरीब व्यक्ति के लिए यह रकम बहुत ही बड़ी है।

2. एवं इसकी ब्याज दर 4 से 10% तक का है जो कि अलग अलग बैंकों में अलग-अलग ब्याज दर लगत है।

यही कुछ नुकसान थे जोकि आपको लघु उद्योग पर लोन लेने पर मिलेंगे एवं एक और खास बात यहां पर आपको ईएमआई सुविधा उपलब्ध नहीं मिल सकती कई कंपनियां एवं बैंक हो सकता है आपको यह सुविधा उपलब्ध कराएं।

कुटीर एवं लघु उद्योग में क्या अंतर है?

मित्रों कुछ ऐसी अंतर है लघु उद्योग और कुटीर उद्योग में जो कि हम आपको यहां बताएंगे सभी जानते हैं विस्तार पूर्वक सारी बातें।

1. मित्र कुटीर उद्योग एक ऐसा उद्योग है जोकि कुशलतापूर्वक कम पूंजी में हाथों के द्वारा एवं कम श्रमिको की आवश्यकता होती है उद्योग घर पर किया जा सकता है और जहां तक हम बात करेंगे लघु उद्योग के तो वह एक छोटे-मोटे औद्योगिक इंडस्ट्रीज के अंदर आते हैं जोकि कम पूंजी में छोटे-मोटे मशीनों के द्वारा और थोड़ा ज्यादा श्रम बल के द्वारा यह उद्योग किया जाता है।

2. कुटीर उद्योग के अंदर मोमबत्ती का पैकेट पैक करना एवं छोटी मोटी काम आती है एवं बर्तन का काम सिलाई कढ़ाई इस तरह की काम में आती है जबकि लघु उद्योग में बिस्किट फैक्ट्री एवं डेरी फॉर्म से बनी वस्तुएं को पैक कर विनिमय करना एवं बहुत सी ऐसी मशीनों द्वारा की गई काम को लघु उद्योग के अंदर आता है।

ऐसे ही बहुत ही अंतर है लघु उद्योग और कुटीर उद्योग के अंदर जो कि हमने जाना।

इसे भी पढ़ें

इसे भी पढ़ें:

>Google Pay से Loan कैसे लेते हैं 

>Cashbean से लोन कैसे लेते हैं 

>Google Pay से Loan कैसे लेते हैं 

निष्कर्ष

मित्रों आज के इस पोस्ट में हमने जाना कि लघु उद्योग क्या है और लघु उद्योग के फायदे नुकसान लघु उद्योग और कुटीर उद्योग में अंतर एवं उसने लोन किस तरह मिलता है एवं लोन लेने के लिए क्या-क्या चीजों की आवश्यकता एवं बहुत तरह की जानकारी आज के इस पोस्ट में हमने जाना और ऐसे भी बहुत सी जानकारियां को हमने जाना आज के इस पोस्ट पर ।

नमस्कार दोस्तों, मैं HindiBali.com के संस्थापक और लेखक बादल प्रधान हूँ। मुझे नवीनतम तकनीक और गैजेट्स के बारे में जानने और दूसरों को सिखाने में मज़ा आता है इसलिए मैं 3 साल से ब्लॉगिंग कर रहा हूं। इस ब्लॉग के अलावा, मैं 3 से 4 ब्लॉग भी चलाता हूं। इसी तरह, आप लोग हमारे साथ जुड़े रहें, और हम आप के साथ नॉलेज शेयर करते रहेंगे।

Leave a comment